CrimeIndiaUttar Pradesh

 DGGI की पूछताछ में इत्र व्यापारी पीयूष जैन ने किया कबूल,बरामद हुआ 196 करोड़ कैश मेरा था।  

कानपुर:- आज से लगभग दो हफ्ते पहले 27 दिसंबर को कारोबारी पीयूष जैन के कानपुर और कन्नौज वाले ठिकानों से आंखें चौंधिया देने वाले कैश के साथ-साथ बड़ी मात्रा में सोना और चंदन का तेल। छापा मारकर बरामद किया गया था। 120 घंटे की जांच और 50 घंटो की पूछताछ में कुल 195 करोड़ रुपये की नकदी बरामद हुआ था। बेहद साधारण रहन-सहन वाले पीयूष जैन के ठिकानों पर सिर्फ कैश ही नहीं मिला था बल्कि वहां से करीब 10 करोड़ का सोना और 6 करोड़ का चंदन का तेल भी बरामद किया गया था। 196 करोड़ रुपये कैश मिलने के बाद  आरोपी पीयूष ने यह कबूल लिया की बरामद हुआ 196 करोड़ का कैश उसी का है। डीजीजीआई रिपोर्ट के मुताबिक पीयूष ने बयान दिया है कि वह सबकुछ भूल गया है। उसने कहा, 196 करोड़ रुपये मेरे हैं, आपने मुझे गिरफ्तार कर लिया है…बात यहीं खत्म।

डीजीजीआई विंग की रिपोर्ट के मुताबिक पीयूष से कई सवाल से पूछा गया कि जैसे ये बिजनेस किसका है? इतना कैश कहां से आया? केमिकल कंपाउंड बनाने के लिए कच्चा माल कहां से लेते थे? तो इन सवालो के उसने उल्टे सीधे जवाब देते हुए कहा की, ये कैश मेरा है और यह पैसा जीएसटी चोरी की है और मुझे याद नहीं कि मेरे कच्चे माल के सप्लायर कौन हैं। जब पीयूष जैन से यह  पूछा गया कि तैयार माल किसे देते हो तो उसने कहा, मुझे नहीं पता, जो आता था मैं उसे बेच देता था।

यह भी पढे:- लखनऊ में कोरोना संक्रमितों की संख्या हज़ार पार, 20 मार्च से हो सकती है यूपी बोर्ड की परीक्षा

Desk Team

Desk Team is our official employee team who publishing the news for Rajdhani Mail.

Related Articles