IndiaPolitics

बुरा फंसे स्वामी प्रसाद मौर्य, धार्मिक आस्था मामले में जारी हुआ गिरफ्तारी का वारंट

लखनऊ:- भारतीय जनता पार्टी से इस्तीफा देने वाले उत्तर प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी हो गया है।सुलतानपुर में एमपीएमलए कोर्ट के दंडाधिकारी योगेश यादव ने स्वामी प्रसाद मौर्य को 24 जनवरी को पेश होने का आदेश दिया है।

बता दें देवी देवताओं की पुजा पर आपत्ति जनक टिप्पणी करने के मामले में आज यानि 12 जनवरी को पूर्व कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य अदालत मे हाजिर नही हुए। अपर मुख्य दण्दाधिकारी एमपी-एमएलए ने आरोपी स्वामी प्रसाद मौर्या के खिलाफ पूर्ववत जारी गिरफ्तारी वारंट को जारी करने का आदेश दिया है। यह सुनवाई 24-1-2022 को होगी। अधिवक्ता अनिल तिवारी ने देवी देवताओ पर अभद्र टिप्पणी करने के मसले में स्वामी प्रसाद मौर्या के खिलाफ परिवाद दायर किया था । विचारधीन परिवाद के मामले में भारतीय जनता पार्टी के पूर्व केंद्रीय श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद के खिलाफ कोर्ट से गिरफ्तारी वारंट चल रहा था ।अधिवक्ता अनिल तिवारी के मुताबिक लखनऊ बेंच ने सन् 2016 मे कार्यवाही पर रोक लगा दिया था ।6 जनवरी को एमपी-एमएलए कोटे ने 12 जनवरी को कोर्ट मे हाजिर होने का आदेश सुनाया था। आज यानि बुधवार को आरोपित मंत्री के अदालत में हाजिर न होने के कारण मामले की सुनवाई कर रहे। अपर मुख्य दण्डाधिकारी एम पी एम एल ए ने पूर्ववत गिरफ्तारी वारंट को जारी करने का आदेश दिया है।

आपको बता दें कि कल ही यानि मंगलवार को स्वामी प्रसाद मौर्य योगी कैबिनेट से इस्तीफा देकर भाजपा से अपना नाता तोड़ लिया था। अब वह समाजवादी पार्टी का दामन थामने जा रहे हैं। 14 जनवरी को वह समाजवादी पार्टी में शामिल होंगे ऐसे में उससे पहले उनकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

Desk Team

Desk Team is our official employee team who publishing the news for Rajdhani Mail.

Related Articles