Monday, January 30, 2023
rajdhani mail news apprajdhani mail news app
HomeIndiaआज से संसद का नया बजट सत्र शुरू, राष्ट्रपति कोविन्द ने कहीं...
free website builderfree website builder

आज से संसद का नया बजट सत्र शुरू, राष्ट्रपति कोविन्द ने कहीं अपने अभिभाषण में ये बातें

TG-Web-Designing-Banner-ad

आज से संसद का नया बजट शुरू होने जा रहा है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द (President Ramnath Kovind) ने आज सुबह 11 बजे एक साथ दोनों सदनों को संबोधित किया। इसके बाद कल यानि 1 फरवरी 2022 को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने  सुबह के 11 बजे संसद में देश केंद्रीय बजट (Union Budget 2022) पेश किया। बता दें, संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से शुरू होकर 8 अप्रैल तक चलेगा।

आपको बता दें, यह लगातार चौथा मौका होगा जब निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने देश का बजट पेश किया है। इस साल देश का बजट सत्र कोरोना (Corona) के चलते दो चरणों में होगा। प्रथम चरण 1 फरवरी से 11 फरवरी के बीच और दूसरा चरण 14 मार्च से 8 अप्रैल के बीच होगा। 12 और 13 मार्च को छुट्टी रहेगी। इस दौरान स्थायी समितियाँ मंत्रालयों की अनुदान मांगों की जांच करेंगी और उस पर रिपोर्ट तैयार करेंगी। आपको बता दें, कुल 29 बैठकें होंगी। पहले भाग में 10 और दूसरे भाग में 19 बैठकें होंगी।

Budget Session 22-23

बता दें, 2 फरवरी से 11 फरवरी 2022 तक लोकसभा की कार्यवाही शाम 4 बजे से रात 9 बजे तक चलेगी। वहीं दूसरी राज्यसभा की कार्यवाही सुबह 9 या 10 बजे से लेकर 2 बजे तक होगी। लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही हर दिन पाँच घंटे चलेगी लेकिन उनके समय अलग-अलग होंगे। बजट सत्र के दौरान राज्यसभा की बैठक दिन के पहले हाफ तथा लोकसभा की बैठक दिन के दूसरे हाफ में होगी। कोरोना प्रोटोकॉल के चलते राज्यसभा और लोकसभा के चैंबर और गैलरी में भी सदस्यों को बिठाया जाएगा यानी कि बजट सत्र के दौरान किसी भी विजिटर्स को कार्यवाही देखने की मंजूरी नहीं मिलेगी।

4 दिन निर्धारित किए गए धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के लिए

सूत्रों के मुताबिक, बजट सत्र के पहले भाग के दौरान राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव चर्चा और बजट पर सामान्य चर्चा हुई। धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा करने के लिए सरकार ने अस्थायी रूप से 4 दिन निर्धारित किए हैं. 2, 3, 4 और 7 फरवरी को धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा होगी। बजट पेश करने के बाद सत्र के पहले भाग के दौरान (2 से 11 फरवरी 2022 तक) अलग अलग प्रश्नों, गैर-सरकारी सदस्यों के कार्य पर चर्चा, धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा, केंद्रीय बजट पर सामान्य चर्चा इत्यादि के लिए 40 घंटे का समय उपलब्ध कराया जाएगा।

संसद में टेस्ट और टीकाकरण की व्यवस्था

COVID-19 महामारी के खतरे को ध्यान में रखते हुए, लोकसभा कक्ष और संसद भवन परिसर के अन्य हिस्सों में विस्तृत व्यवस्था कराई गयी है। संसद सदस्यों और अन्य विजिटर्स के लिए भी परिसर में टीकाकरण और कोरोना परीक्षण की व्यवस्था रखी गयी है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द द्वारा अभिभाषण में कहीं गयी कुछ महत्वपूर्ण बातें

  • राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द (Ramnath Kovind) ने आज दोनों सदनों को संबोधित किया। उन्होन कहा कि, “वर्ष 2047 में हमारा देश आज़ादी की शताब्दी पूरी करेगा। उस समय के भव्य, आधुनिक और विकसित भारत के लिए हमें आज कठिन परिश्रम करना है। हमें अपने परिश्रम को पराकाष्ठा तक लेकर जाना है और यह सुनिश्चित करना है कि इसके लाभकारी परिणाम निकलें। इसमें हम सबकी समान भागीदारी है।“
  • देश कि सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए, राष्ट्रपति ने कहा, देश की सुरक्षा पर विशेष ध्यान है। रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भरता पर सरकार का खास ध्यान है। 2020-21 में 87 फीसदी उत्पादों में मेक इन इंडिया को प्राथमिकता दी गई है। 209 ऐसे सामानों की सूची जारी की गयी, जिन्हें विदेश से नहीं खरीदा जाएगा।  हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड के साथ 83 एलसीए तेजस फाइटर एयरक्राफ्ट के निर्माण हेतु अनुबंध किए गए हैं। सरकार ने ऑर्डिनेन्स फैक्ट्रियों को 7 डिफेंस PSU का रूप देने के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं।
  • Budget Session
  • राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द (Ramnath Kovind) ने आगे अपने अभिभाषण में आगे कहा कि “हमने अपने पड़ोसी देश अफगानिस्तान में अस्थिरता और नाजुक हालात को देख चुके है, भारत ने इन परिस्थितियों में मानवता को सर्वोपरि रखते हुए ऑपरेशन देवी शक्ति को संचालित किया था। हमने हमारे कई नागरिकों और कई अफगान हिन्दू, सिख, अल्पसंख्यकों को काबुल से सफलतापूर्वक एयरलिफ्ट किया था।”
  • राष्ट्रपति कोविंद कोरोना वाइरस कि स्तिथी को ध्यान में रखते हुए बोले कि “कोरोना वाइरस ने मुश्किलें बढ़ाईं, लेकिन भारत आज सबसे ज्यादा वैक्सीनेशन वाले देशों में से एक बन चुका है।” राष्ट्रपति कोविन्द ने बताया कि देश में कोरोना की तीसरी डोज और युवाओं को टीका भी दिया जा रहा है। सरकार भविष्य की तैयारियों में जुटी हुई है। 64 हजार करोड़ रुपये से आयुष्मान भारत हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार किया गया है। 8 हजार से ज्यादा जन औषधि केंद्र हैं जिससे सस्ती दवाएं मिल सकती है। कोविंद बोले किआयुर्वेद को सरकार के प्रयासों से बढ़ावा प्रदान हुआ है।
  • खबरों के हवाले से आई जानकारी के अनुसार, राष्ट्रपति ने आगे कहा कि, “किसानों से भी रिकॉर्ड खरीदी गई है। भारतीय किसानों की आय के नए जरिए तैयार किए जा रहे हैं। कृषि क्षेत्र से जुड़े निर्यात में रिकॉर्ड बढ़ोतरी हुई है। किसान रेल से किसानों को फायदा पहुँचा है। कोरोना काल में भी 1900 से अधिक किसान रेल चलायी गयी।” आगे कोविंद बोले यह दिखाता है कि सोच नई हो तो पुराने संसाधन भी काम में आ सकते हैं। छोटे किसानों के हितों को सरकार ने प्रमुख तौर पर रखा है। आर्गेनिक खेती जैसे प्रयास भी सरकार द्वारा जारी है।
  • महिला सशक्तिकरण कि ओर ध्यान खींचते हुए कोविन्द बोले कि, महिला सशक्तिकरण की तरफ सरकार का खास ध्यान है। लड़कियों की शादी की उम्र लड़कों के बराबर ही होगी। सैनिक स्कूलों में अब लड़कियों का भी नामांकन होता है। सरकार द्वारा तीन तलाक को भी खत्म कर दीया गया।सरकार ने तीन तलाक को कानूनन अपराध घोषित करके हमारे समाज को इस कुप्रथा से मुक्त कर दिया है।

यह भी पढ़ें 

free website builder
Desk Team
Desk Team is our official employee team who publishing the news for Rajdhani Mail.
RELATED ARTICLES
- 50% Discount Offer -free website builderfree website builder
- Download Mobile App -rajdhani mail news app

Most Popular

you're currently offline