IndiaPoliticsUttar Pradesh

कार्यकर्ताओं के बीच पिता की जेल में हालत बताते हुए रो पड़े अब्दुल्लाह आजम खान

उत्तर प्रदेश:- यूपी चुनाव से ठीक पहले जेल से बाहर आए आजम खान के बेटे अब्दुल्लाह आजम खान (Abdullah Azam khan) रामपुर में समाजवादी पार्टी कार्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए अपने पिता को याद करते हुए भावुक हो गए।
अब्दुल्लाह आजम पिता आजम खान (Azam Khan) के साथ जेल में गुजारे हुए 23 महीने का जिक्र करते हुए भावुक हो गए और उनकी आंखों से आँसू छलक पड़े। पिता के ICU में भर्ती होने का जिक्र करते हुए उन्होनें कहा कि, यह लड़ाई सीधे मौजूदा सरकार से है।
अब्दुल्लाह आजम (Abdullah Azam) ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि “जिम्मेदारी बहुत बड़ी है, मुकाबला बहुत बड़े लोगों से है। यह मुकाबला, दौलत का होगा,सियासत का भी होगा, ज्यादती का भी होगा,हमारे साथ हुई नाइंसाफी का भी होगा लेकिन अपने मालिक पर यकीन रखते हुए सामने आयी उन तमाम मुश्किलों का सामना करना होगा।”
आपको बता दें कि,आजम ने कार्यकर्ताओं से यह भी कहा कि, “आजम खान साहब ने मुझे यह पैगाम देकर भेजा था, जब पूरे जिले के तमाम लोग आएं तो उन्हें सबसे पहले यह समझाया जाए कि उनकी ताकत बहुत बड़ी है। यह वह जिला है जहां एक रात में नारा लगा था वजीरे आजम बनाम आजम तब भी हम जीते थे।”
आगे पिता को याद करते हुए अब्दुल्लाह आजम ने कहा कि आज भी मेरे और आपके लिए मेरी और आपके मोहब्बत में एक शख्स 8 बाई 8 की एक कोठरी में अकेला बंद है, वो मेरे और आपके फैसले का इंतजार कर रहा है, आपकी लड़ाई बहुत बड़ी है।
अब्दुल्लाह आजम (Abdullah Azam) ने मौजूदा सरकार को घेरे में लेते हुए कार्यकर्ताओं से कहा, “ना आपकी लड़ाई बहुजन समाज पार्टी से है और ना ही कांग्रेस से हैं। आपकी लड़ाई मौजूदा सरकार से है, आप का चुनाव सरकार से है और यह सरकार नुकसान पहुंचाने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी। ये लोग चुनाव इसलिए नहीं लड़ रहे हैं कि ये चुनाव खुद जीत जायें बल्कि इसलिए लड़ रहे हैं ताकि ये आपको चुनाव हरा सके।
सूत्रों के मुताबिक जेल में बिताए समय को याद करते हुए अब्दुल्लाह आजम (Abdullah Azam) ने कहा कि “जेल में बीते समय को लेकर मुझे कोई शिकायत नहीं है बस मैं अल्लाह से दुआ करता हूं कि मेरे वालिद को बचा लें क्योंकि उन्होंने बहुत बुरा दौर देखा है, बहुत सी रातें ऐसी आयी है जिनमे ऐसा लगा जैसे आने वाला सवेरा अब देखने के काबिल नहीं बचेगा और हम जेल में ही मार दिए जाएंगे।”
यह भी पढ़ें 

Desk Team

Desk Team is our official employee team who publishing the news for Rajdhani Mail.

Related Articles