Monday, May 27, 2024
HomeUTTAR PRADESHकोई नौजवानों के भविष्य से खिलवाड़ करेगा तो उसके बाप-दादा की प्रॉपर्टी...

कोई नौजवानों के भविष्य से खिलवाड़ करेगा तो उसके बाप-दादा की प्रॉपर्टी जब्त करके गरीबों में बंटवा देंगेः CM योगी

कैराना: हमारी सरकार ने दंगा और कर्फ्यू मुक्त उत्तर प्रदेश दिया है। वहीं दंगा और कर्फ्यू लगाने वालों की गर्मी को शांत करके आपको एक शांत और शुद्ध वातावरण दिया है। उनको फिर से पनपने का अवसर मत दीजिएगा क्योंकि यह जातिवाद की राजनीति करके पहले दंगों और कर्फ्यू के आमंत्रण की एक शुरुआत करेंगे। इसके बाद बेटियों और व्यापारियों की सुरक्षा के लिए खतरे की घंटी बनेंगे, जो यहां के विकास को बाधित करने की साजिश का हिस्सा है। हमें इससे ऊपर उठकर काम करना होगा। इसके लिये हमें दंगाइयों, भ्रष्टाचारियों, अराजक तत्वों, बेटी, मां, अन्नदाता, नौजवान के जीवन से खिलवाड़ करने वालों को दोबारा पनपने नहीं देना है, चाहे वह कोई भी हो। आज कोई भी नौजवानों के भविष्य से खिलवाड़ नहीं कर सकता। यदि कोई ऐसा प्रयास भी करता है तो उसके बाप-दादा की प्रॉपर्टी जब्त करके गरीबो में बंटवा देंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मिशन ही हमारा मिशन है। हम उनके राष्ट्रवाद के विजन और मिशन के साथ जुट कर नए भारत के निर्माण के लिए कार्य करेंगे। ये बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को कैराना लोकसभा क्षेत्र में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कहीं। इस दौरान उन्होंने बीजेपी और राष्ट्रीय लोक दल के संयुक्त लोकसभा प्रत्याशी प्रदीप चौधरी के पक्ष में वोट की अपील की।

सहारनपुर में दंगा और कर्फ्यू पुरानी बात
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सहारनपुर में अब विकास हो रहा है। यहां दंगा और कर्फ्यू पुरानी बात हो गयी है। आज सहारनपुर विकास की धारा के साथ जुड़ करके विकसित भारत की तर्ज पर विकसित उत्तर प्रदेश के सपने को साकार करने के लिए कृत संकल्पित दिखाई दे रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्र भारत में पहली बार अन्नदाताओं को सम्मान देने वाले किसानों के मसीहा चौधरी चरण सिंह को देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित कर उनके प्रति कृतज्ञता ज्ञापित की है। आपने पिछले 10 वर्ष में मोदी जी के नेतृत्व में बदलते हुए नए भारत को देखा है। दुनिया के अंदर भारत का सम्मान बढ़ा है। सीमाएं सुरक्षित हुई हैं। आतंकवाद नक्सलवाद समाप्त हुआ है। विकास के बड़े-बड़े कार्य हो रहे हैं। हाईवे, रेलवे, मेट्रो, यूनिवर्सिटी, मेडिकल कॉलेज, इंजीनियरिंग संस्थान बन रहे हैं और गरीब कल्याणकारी योजनाओं का तो कोई सानी ही नहीं है। मोदी जी ने योजनाओं का लाभ देते हुए कभी किसी की जाति नहीं देखी। 80 करोड़ लोगों को पिछले 4 वर्ष से मुफ्त राशन मिल रहा है। आज आपके पास यह गारंटी है कि अगर कोई दुर्भाग्य से बीमार हुआ तो कह सकता है कि मेरे पास ₹500000 की स्वास्थ्य बीमा का कवर है। अगर किसी का आयुष्मान कार्ड नहीं बन पाया है तो कोई पीड़ित या विधायक मुझे पत्र लिख देता है तो लखनऊ से तुरंत पैसा उनके खाते में भेज देता हूं। किसी बीमार व्यक्ति की जाति वोट बैंक के सौदागरों के लिए महत्वपूर्ण हो सकती है, लेकिन मेरे लिए वह प्रदेश का नागरिक है, उसके हितों का संरक्षण करना मेरा दायित्व है। हमने कभी प्रोपेगेंडा नहीं किया। आज सरकारी नौकरियों में कोई भेदभाव नहीं है. जब सरकारी नौकरियां निकलती हैं तो हमारे सहारनपुर के नौजवान भी भारी संख्या में उसमें भर्ती होते हैं। पहले दो-तीन जिलों के लोग ही भर्ती किए जाते थे, बाकी लोगों को ठेंगा दिखा दिया जाता था। हमने कहा कि यह नहीं चलेगा। 75 के 75 जनपदों की भर्ती होगी और अगर कोई नौजवानों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करेगा तो उसके बाप, दादा की भी प्रॉपर्टी को जब्त करके गरीबों में बंटवाने का काम करेंगे।

पूर्व की सरकारों ने सहारनपुर को बना दिया मजहबी उन्माद और फतवों का शहर
सीएम योगी ने विपक्षी पार्टियों पर हमला बोलते हुए कहा कि सहारनपुर के मेहनतकश किसानों, श्रमिकों, कारीगरों और हस्तशिल्पियों को पूर्व की सरकारों ने उपेक्षित छोड़ दिया गया था। ये सभी सपा, बसपा और कांग्रेस की सरकारों की दंगा पॉलिसी के शिकार हो गए थे। यहां का विकास बाधित हो गया था। अन्नदाता किसान आत्महत्या करने के लिए मजबूर था। नौजवान पलायन करने के लिए मजबूर हो गया था, बेटियां सुरक्षित नहीं थीं, व्यापारी सुरक्षित नहीं था और जातीय खेमों में बांट करके लोगों ने सामाजिक ताने-बाने को छिन्न-भिन्न करने का काम किया था। इसका दुष्परिणाम ये हुआ कि कभी देश गुलाम हुआ, कभी हमारे ऐतिहासिक पृष्ठभूमि से जुड़े हुए आस्था के केंद्र तोड़े गए, कभी कावड़ यात्रा पर रोक लगाई गई, कभी सिख विरोधी दंगे होते हैं, कोई भी खुद को सुरक्षित महसूस नहीं करता था। सहारनपुर में असीम संभावना थी, प्रकृति और परमात्मा की असीम कृपा के चलते जिसे शिक्षा के केंद्र के रूप में काशी के तर्ज पर विकसित होना चाहिए था, उसको मजहबी उन्माद और फतवों का शहर बना करके रख दिया गया। यह है देश के खिलाफ साजिश करने वालों की करतूत। जिसमें संभावना थी अन्नदाता किसानों के माध्यम से देश को दुनिया की एक ताकत बनाने की, जिन हस्तशिल्पियों और कारीगरों में ताकत थी दुनिया का सबसे अच्छा कारीगरी दिखा करके वह भारत का नाम दुनिया के सामने रौशन करें, जिन नौजवानों के अंदर एक जज्बा था कि वह जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में नेतृत्व दे सकते हैं, जिन व्यापारियों में यह हौसला था कि दुनिया को अपने में समेट सकते हैं, इन सभी को दरकिनार करके सहारनपुर को मजहबी उन्माद का केंद्र बना दिया गया।

दंगा करने वालों को आज उल्टा लटका देते हैं
उन्होंने कहा कि पहले यह माफिया सर चढ़कर के बोलते थे। छोटी-छोटी बात पर यहां दंगा होता था। आज आप देख रहे होंगे कि दंगा करने वाले भूल ही गए हैं कि कभी दंगा भी होता था। आज दंगा करने वालों को पकड़ करके उल्टा लटका कर नीचे मिर्च का झोंका लगा दिया जाता है। अगर किसी निर्दोष व्यापारी और बेटी के साथ कोई दुर्व्यवहार करता है तो उसकी क्या दुर्गति की जाती है यह भी आपने देखा होगा। प्रयागराज का माफिया जबरदस्ती एक पिछड़ी जाति के व्यक्ति की निर्मम हत्या कर देता था। हमने उसकी प्रॉपर्टी को जब्त करके गरीबों के लिए मकान बना दिए। उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य की सरकार का एक ही विजन है और वह है जनता जनार्दन की सेवा करना। अपने राज्य को और अपने देश को दुनिया की सबसे बड़ी ताकत बनाना, क्योंकि इसी में आपका और आने वाली पीढ़ी का भी भविष्य उज्जवल है। मोदी जी देश की आवश्यकता हैं। मोदी जी ने देश के विकास को एक एजेंडा दिया है, सुरक्षा का माहौल दिया है, 140 करोड लोगों का सम्मान बढ़ाया है। भारत को दुनिया की तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था बनाने के लिए मोदी जी का तीसरा कार्यकाल आवश्यक है और मोदी जी को तीसरा कार्यकाल देने के लिए प्रदीप चौधरी को भी तीसरी बार कैराना से सांसद के रूप में जिताना आवश्यक है। देश के हित में अन्य बड़े फैसले लेने के लिए देश के अंदर एक ऐसी सरकार चाहिए जो 140 करोड लोगों के बारे में सोचे और इसीलिए कहा जा रहा है यह चुनाव फैमिली फर्स्ट बनाम नेशन फर्स्ट का चुनाव है।

RELATED ARTICLES

Most Popular