Monday, May 27, 2024
HomeUTTAR PRADESHबुलडोजर और भीड़ देख गदगद मुख्यमंत्री ने आमजन के प्रति जताया आभार

बुलडोजर और भीड़ देख गदगद मुख्यमंत्री ने आमजन के प्रति जताया आभार

एटा:  प्रो. रामगोपाल यादव को राम मंदिर कैसे अच्छा लगेगा, क्योंकि यह लोग आतंकियों को जेल से छुड़ाते हैं। 2004से 2007 के मध्य सपा सरकार के समय आतंकियों ने अयोध्या में रामजन्मभूमि, काशी में संकट मोचन मंदिर, लखनऊ, अयोध्या व वाराणसी की कचहरी और रामपुर में सीआरपीएफ कैंप पर हमला किया था। 2012 में जब सपा सरकार आई तो तत्कालीन सीएम ने सबसे पहले आतंकवादियों के मुकदमों को वापस लेने का आदेश दिया था। उन्हें प्रदेश की सुरक्षा, देश के सम्मान, नौजवानों, बेटियों, व्यापारियों की नहीं, बल्कि आतंकवादियों की चिंता थी। सपा प्रत्याशी वोट जेहाद की बात करते हैं। यह भगवान राम के रामराज्य का समय है। राम का विरोध करने वालों को शर्म आनी चाहिए। भारत में राम और राम मंदिर का विरोध करने वालों को वोट देने का पाप लगेगा। इन्हें वोट देने वाला इस लोक को भी खराब कर रहा है और परलोक भी खराब कर लेगा।

उक्त बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहीं। वे बुधवार को एटा जनपद के अलीगंज में रहे। यहां से उन्होंने फर्रुखाबाद लोकसभा क्षेत्र के सांसद व भाजपा प्रत्याशी मुकेश राजपूत के पक्ष में जनसभा कर फिर से कमल खिलाने की अपील की।

रामद्रोही बातों से नहीं मानते, इनके लिए किया गया बुलडोजर का अविष्कार
सीएम ने कहा कि यह चुनाव रामभक्तों और रामद्रोहियों के बीच है। रामभक्त कहते हैं कि भारत की सुरक्षा और सम्मान, गांव-गरीब, महिलाओं के उत्थान के लिए कार्य करेंगे तो दूसरी तरफ रामद्रोही कहते हैं कि राम मंदिर बेकार बन गया। यह लोग जब सत्ता में आते हैं तो हर जगह डकैती डालते हैं। यह रामद्रोही बातों से नहीं मानते। हमने इनके लिए नया अविष्कार किया है, जो आपके सामने (बुलडोजर) खड़ा है। कांग्रेस व सपा का गठबंधन सुरक्षा पर सेंध लगाने वाला, जेबों पर डकैती डालने वाला, नक्सलवाद- आतंकवाद को भड़काने और राम मंदिर का विरोध करने वाला है।

सैफई परिवार कल ही तीन सीट हार गई, 13 को कन्नौज का भी नंबर आने वाला है
सीएम ने कहा कि सैफई परिवार के तीन सीटों के परिणाम कल ही आ गए। तीनों पर वे हारेंगे। 13 को कन्नौज का नंबर भी आने वाला है। 25 को आजमगढ़ में भी कमल का फूल खिलेगा, क्योंकि लोगों को विकास और सुरक्षा पर विश्वास हुआ है। अब एटा में किसी गरीब की जमीन पर कब्जा नहीं होता। ग्राम पंचायत की जमीन पर कोई ईंट भट्ठा नहीं खोल सकता। सपा व कांग्रेस के लोग कांवड़ यात्रा को रोकते थे, हमने कहा कि कांवड़ यात्रा निकलेगी और उस पर हेलीकॉप्टर से पुष्पवर्षा भी होनी चाहिए। मैं उसी हेलीकॉप्टर से आया हूं, जो आप पर पुष्पवर्षा करता है।

गरीबों का खून चूसने वाले माफिया की पैरवी करती है सपा
सीएम योगी ने कहा कि सपा सरकार के समय के महाभारत के रिश्ते (काका, भतीजा, मामा) सब चुनाव लड़ रहे हैं। नौकरी आती थी तो चाचा और भतीजा झोला लेकर निकल पड़ते थे। 2014 में जनता ने मोदी व 2017 में यूपी में भाजपा सरकार चुनी तो हमने संकल्प लिया कि नौकरी पर सेंध लगाने वाला जेल जाएगा। उसकी संपत्ति को लेकर गरीबों में बांटेंगे। सपा के नेता इसलिए पीड़ित हैं, क्योंकि इनके गले के हार माफिया पर कार्रवाई हो रही है। सपा के समय इलाहाबाद के विधायक राजू पाल की हत्या हुई। हत्यारों को सपा बचा रही थी। सपा माफिया समर्थक है। गरीबों का खून चूसने वाले माफिया की पैरवी करते हैं।

जनता की चिंता जनप्रतिनिधि करे, सुरक्षा की चिंता दिल्ली-लखनऊ में बैठे लोग कर लेंगे
सीएम ने कहा कि हमारे जनप्रतिनिधि फोरलेन से जुड़ने की मांग कर रहे थे। हमने कहा कि निश्चिंत रहिए, सब काम हो जाएगा। जनता की चिंता जनप्रतिनिधि करे और सुरक्षा की चिंता लखनऊ व दिल्ली में बैठे लोग कर लेंगे। उन्होंने कहा कि यह केवल सत्ता प्राप्त करने का नहीं, बल्कि देश के विकास का चुनाव है। कांग्रेस व सपा को सत्ता इसलिए चाहिए कि इनका परिवार धनधान्य से पूर्ण हो सके। भाजपा को सत्ता इसलिए चाहिए कि आपका वर्तमान व भावी पीढ़ी का भविष्य समृद्ध हो सके। जेहाद की वकालत करने वालों की जमानत जब्त कराइए, जिससे यह लोग चुनाव लड़ना भूल जाएं।

जनसभा में सांसद व लोकसभा प्रत्याशी मुकेश राजपूत, भाजपा के एटा जिलाध्यक्ष संदीप जैन, फर्रुखाबाद के जिलाध्यक्ष रूपेश गुप्ता, विधायक सत्यपाल सिंह राठौर, सुशील शाक्य, सुरभि गंगवार, नागेंद्र सिंह राठौर, जिला पंचायत अध्यक्ष मोनिका यादव, चेयरमैन अलीगंज सुजीत गुप्ता, सर्वेश कठेरिया आदि की मौजूदगी रही।

भीड़ और बुलडोजर देख गदगद हुए योगी
इस जनसभा में बुलडोजर पर भाजपा के कार्यकर्ता व आमजन खड़े रहे। धूप में खड़ी भीड़ को देख सीएम गदगद हुए। उन्होंने कहा कि एटा में कल लोकसभा चुनाव हुआ है। अगल-बगल चुनाव होने से आप भी व्यस्त रहे होंगे। मैं सोच रहा था कि वाहन चुनाव में लगे होंगे तो मेरी जनसभा में कौन और कैसे आएगा, लेकिन जनप्रतिनिधियों से पता चला कि लोग अपने साधन-वाहन, ट्रैक्टर ट्राली से लंबी दूरी तय करके आए हैं। एटा में साधन व वाहन न होने के बावजूद आपकी उपस्थिति आनंदित करती है।

RELATED ARTICLES

Most Popular