Tuesday, July 16, 2024
HomeUTTARAKHANDश्री केदारनाथ यात्रा मार्ग में जाम में फंसे श्रद्धालुओं को जिला प्रशासन...

श्री केदारनाथ यात्रा मार्ग में जाम में फंसे श्रद्धालुओं को जिला प्रशासन की ओर से 4500 फूड पैकेट एवं पानी की बोतलें वितरित की गई

रुद्रप्रयाग: 11वें ज्योतिर्लिंग बाबा श्री केदारनाथ धाम के कपाट 10 मई को देश-विदेश के श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए गए हैं तथा केदारनाथ धाम में कपाट खुलने से लेकर अब तक 3,19,193 श्रद्धालुओं ने बाबा केदार के दर्शन कर लिए हैं तथा अभी भी भारी संख्या में श्रद्धालुओं का आना जारी है। भारी संख्या में दर्शन को पहुंच रहे श्रद्धालुओं जिस कारण यात्रा मार्ग में विभिन्न स्थानों पर जाम की स्थिति बनी हुई है जिसके लिए जिला प्रशासन की टीमें एवं पुलिस विभाग के जवान जाम में फंसे श्रद्धालुओं को जाम से निकालने के लिए निरंतर कार्य कर रहे हैं। श्री केदारनाथ धाम के दर्शन करने पहुंच रहे तीर्थ यात्रियों जो जाम में फंस रहे हैं, इसके लिए जिलाधिकारी के निर्देशन में इन यात्रियों को आवश्यक सामग्री उपलब्ध कराई जा रही है। जिसमें आज जिला प्रशासन की ओर से स्याल सौड, काकड़ागाड़, दगड़िया बैंड़, रामपुर, शेरसी, जामू आदि क्षेत्रों में जाम में फंसे तीर्थ यात्रियों को 4500 फूड पैकेट एवं पानी की बोतलें जिला पूर्ति अधिकारी मनोज कुमार डोभाल एवं सेक्टर अधिकारी फाटा नरेंद्र कुमार, खंड विकास अधिकारी अगस्त्यमुनि प्रवीण भट्ट एवं उनकी टीम द्वारा तीर्थ यात्रियों को उनकी गाड़ियों में जाकर फूड पैकेट एवं पानी की बोतलें वितरित की गई।

जाम में फंसे विभिन्न क्षेत्रों से आए तीर्थ यात्रियों को जब जिला प्रशासन की ओर से फूड पैकेट एवं पानी की बोतलें उपलब्ध कराई गई तो सभी तीर्थ यात्रियों के चेहरे पर खुशी की झलक देखने को मिली, जिससे कि सभी तीर्थ यात्रियों ने फूड पैकेट एवं पानी की बोतलें उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन का आभार व्यक्त करते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया। जाम में फंसे तीर्थ यात्रियों को जाम से निजात दिलाने के लिए जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन की टीमें निरंतर जाम हटाने का कार्य कर रही हैं। उप जिलाधिकारी रुद्रप्रयाग आशीष घिल्डियाल ने अवगत कराया है कि चंद्रापुरी में रोड कटिंग के कारण सड़क मार्ग अवरुद्ध हो गया था जिसे अब खोल दिया गया है तथा यातायात को सुचारू करते हुए वाहनों को लाइन के माध्यम से दोनों ओर से सुव्यवस्थित ढंग से आवाजाही की जा रही है।

RELATED ARTICLES

Most Popular